गोविंदा को पैदा होने के बाद बाद में भी उठाना पसंद नहीं करते थे उनके पिता यह था कारण

अपनी जबरदस्त कॉमेडी और डांस के लिए जाने जाने वाले गोविंदा को आज कौन नहीं जानता है. गोविंदा ने अपनी दमदार एक्टिंग के दम पर लाखों लोगों को अपना दीवाना बनाया है. आज ही का नाम किसी पहचान का मोहताज नहीं है. पर क्या आप सब लोग जानते हैं गोविंदा ने इस पहचान को बनाने के लिए कितने संघर्ष किए हैं. गोविंदा के जीवन के संघर्ष तो पैदा होते ही शुरू हो गए थे.

90 के दशक में गोविंदा ने कई सुपरहिट फिल्में दी है गोविंदा किसी भी किरदार को आसानी से निभा लेते थे. फिल्म एक्टर होने के बाद भी गोविंदा अपनी पर्सनल लाइफ को लाइमलाइट से दूर रखते थे लेकिन उन्होंने खुद को इंटरव्यू के दौरान अपने जीवन से जुड़ा एक किस्सा अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर किया है आइए आज हम आपको इस किस्से के बारे में बताते हैं.

गोविंदा ने बताया कि जब वह पैदा हुए थे तो उनके पिता ने उनको गोद में उठाना भी पसंद नहीं किया था गोद में उठा तो दूर की बात है उनके पिता तुमको देखना भी पसंद नहीं करते थे इनका कारण था. उसकी मां का साथी बनना दरअसल गोविंदा के जन्म के तुरंत बाद उनकी मां साध्वी बन गई थी और गोविंदा के पिता को लगता था कि उनकी मां साध्वी गोविंदा के कारण बनी है इसी कारण से उसके पिता उनको गोद में उठाना और देखना पसंद नहीं करते थे. हालांकि बाद में रिश्तेदारों के समझाने के बाद गोविंदा के पिता ने गोविंदा को पिता की तरह प्यार दिया और एक टाइम तो ऐसा था. कि वह अपने पिता के दिल के सबसे करीब थे.

गोविंदा का बचपन का सपना था कि है एक्टर बने लेकिन क्या आप सब लोग जानते हैं थे कि गोविंदा की मां चाहती थी कि वह बैंक में जॉब करें लेकिन उनके पिता का सपना था कि गोविंदा एक्टिंग के करियर में आगे जाएं तो गोविंदा ने अपने पिता का सपना चुनते हुए एक्टिंग के करियर में अपना आगे पैर बढ़ाया लेकिन आज वह किसी पहचान के मोहताज नहीं है आज उन्होंने अपनी अलग पहचान बचा रही है आज वह सफलता के शिखर पर है.

अगर गोविंदा के वर्क फ्रेंड की बात करें तो उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है. इनमें बड़े मियां छोटे मियां, कुली नंबर वन, राजा बाबू, स्वर्ग और मुकाबला जैसी फिल्मों में जबरदस्त अभिनय किया है. जानकारी के लिए बता दें अब गोविंदा बॉलीवुड करियर से दूरी बनाए हुए हैं तथा राजनीति में अपनी किस्मत आजमा रही हैं

Leave a Comment